Email :- vmentorcoaching@gmail.com
Mobile No :- +918290909894, +918824358962
Address :- Near Chandra Mahal Garden, Agra Road Jaipur, 302031, India

Wednesday, December 14, 2016

दैनिक समसामयिकी 14 December 2016(Wednesday)


1.सिंधु संधि प्रक्रियाओं पर विश्वबैंक का ‘‘विराम’
• विश्व बैंक ने एक अहम घटनाक्र म के तहत सिंधु जल संधि के तहत भारत एवं पाकिस्तान द्वारा शुरू की गई विभिन्न प्रक्रि याओं पर विराम लगा दिया है ताकि दोनों देश अपने मतभेदों को सुलझाने के वैकल्पिक तरीकों पर विचार कर सकें।
• विश्व बैंक समूह के अध्यक्ष जिम यंग किम ने कहा, ‘‘हम सिंधु जल संधि को बचाने के लिए और संधि एवं दो पनबिजली संयंत्रों में इसके अमल के संबंध में विरोधाभासी हितों को सुलझाने के वैकल्पिक नजरियों पर विचार करने में भारत एवं पाकिस्तान की मदद करने के लिए इस विराम की घोषणा कर रहे हैं।’

• किम ने भारत एवं पाकिस्तान के वित्त मंत्रियों को लिखे पत्रों में इस विराम की घोषणा की। इस बात पर भी जोर दिया गया कि बैंक संधि को बचाने के लिए यह कदम उठा रहा है। अभी के लिए प्रक्रि या को विराम देते हुए बैंक मध्यस्थता अदालत के अध्यक्ष एवं तटस्थ विशेषज्ञ की नियुक्तियों को फिलहाल रोक देगा।
• बैंक ने जैसा कि पहले बताया था कि ये नियुक्तियां 12 दिसंबर को होने की संभावना थी। भारत ने जम्मू कश्मीर में किशनगंगा एवं राटले पनबिजली परियोजनाओं के संबंध में पाकिस्तान की शिकायत को लेकर मध्यस्थता अदालत गठित करने एवं एक तटस्थ विशेषज्ञ नियुक्त करने के विश्व बैंक के फैसले पर पिछले महीने कड़ी आपत्ति जताई थी।
• भारत किशनगंगा और चेनाब नदियों पर क्रमश: 330 मेगावाट के किशनगंगा और 850 मेगावाट के रैटल पनबिजली संयंत्रों का निर्माण कर रहा है।
• सिंधु नदी : 11.65 लाख वर्ग किमी कुल क्षेत्र
• 47 फीसद पाकिस्तान में, 39 फीसद भारत में
• 8 फीसद चीन में, 6 फीसद अफगानिस्तान में

2. टेलरसन होंगे अमेरिका के नए विदेश मंत्री
• अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपनी चुनाव प्रचार मुहिम में शेखी बघारते हुए कहा था कि वह किसी को भी गोली मार सकते हैं और इसके बावजूद उनका एक भी वोट कम नहीं होगा।
• ट्रंप का यह बयान येल लॉ स्कूल के लाइब्रेरियन की वर्ष 2016 के सर्वाधिक उल्लेखनीय उद्धरणों की सूची में शीर्ष पर है। पुस्तकालय के एसोसिएट डायरेक्टर फ्रेड शापिरो की 11वीं वार्षिक ‘‘येल बुक ऑफ कुटेशंस’ में राष्ट्रपति पद की चुनाव प्रचार मुहिम की साउंड बाइट छाई रहीं।
• उन्होंने ऐसे उद्धरणों को चुना है जो प्रसिद्ध हैं और अपने समय की भावना को दर्शाते है। विस्कॉन्सिन, पेंसिल्वेनिया में जीते ट्रंप पुन: मतगणना प्रयास समाप्तहैरिसबर्ग (अमेरिका)।
• अमेरिका के राष्ट्रपति पद के चुनाव में पुन: मतगणना करने के प्रयास पेंसिल्वेनिया एवं विस्कॉन्सिन में समाप्त हो गए और दोनों राज्यों में रिपब्लिकन उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप को ही विजयी प्रमाणित किया गया। विस्कॉन्सिन में राज्यस्तर पर पुन: मतगणना के बाद वहां ट्रंप की जीत की फिर से पुष्टि हो गई।
• इस पुनर्मतगणना में ट्रंप ने डेमोक्रेट उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन को 22,000 मतों से अधिक से अंतर से हराया। एक संघीय न्यायाधीश ने हैंकिंग के संकेत मिलने के मद्देनजर देश की कुछ चुनावी पण्रालियों की जांच करने एवं पेंसिल्वेनिया में राष्ट्रपति पद के चुनाव के मतपत्रों की पुन: गणना करने के ग्रीन पार्टी समर्थित अनुरोध को खारिज कर दिया।
3. चुनौतियों से निपटने को संरा में करेंगे बदलाव : गुटेरेस
• संरा के नए प्रमुख एंटोनिया गुटेरेस ने कहा है कि संयुक्त राष्ट्र को प्रक्रि या से ज्यादा ध्यान परिणाम पर ध्यान देना चाहिए। उन्होंने लंबे समय से चले आ रहे विवादों का हल निकालने के लिए उन पर व्यक्तिगत रूप से ध्यान देने और वर्तमान वैश्विक चुनौतियों से निपटने के लिए 71 वर्ष पुराने विश्व निकाय में बदलाव करने का भी संकल्प लिया।
• सोमवार को 193 सदस्यीय विश्व निकाय के विशेष सत्र में महासभा के अध्यक्ष पीटर थॉमसन ने गुटेरेस को पद की शपथ दिलवाई थी, जिसके साथ ही वह संयुक्त राष्ट्र के नौंवे महासचिव बन गए। वह वर्ष 2005 से 2015 तक संयुक्त राष्ट्र में शरणार्थी मामलों के उच्चायुक्त रहे और वर्ष 1995 से 2002 तक पुर्तगाल के प्रधानमंत्री रहे।
• उन्होंने महासचिव बान की मून की जगह ली है, जिनका कार्यकाल इस महीने के अंत में समाप्त हो रहा है। मून बीते दस वर्षो से इस निकाय की कमान संभाले हुए थे। इस पद के लिए गुटेरेस का चयन गत अक्टूबर माह में हुआ था और यह जिम्मेदारी वह एक जनवरी, 2017 से संभालेंगे।
• गुटेरेस ने संयुक्त राष्ट्र से ‘‘बदलाव के लिए तैयार रहने’ का आह्वान करते हुए संगठन के कामकाज में विकास को केंद्र में रखने का संकल्प लिया और सुनिश्चित किया कि अंतरराष्ट्रीय बिरादरी के समक्ष खड़ी चुनौतियों से प्रभावी रूप से निपटने के लिए संरा में बदलाव किया जाएगा।
• शपथ लेने के बाद गुटेरेस ने कहा, ‘‘संयुक्त राष्ट्र को चुस्त, दक्ष और प्रभावी बनना होगा। उसे प्रक्रि या से ज्यादा ध्यान परिणाम पर देना होगा, नौकरशाही से ज्यादा लोगों पर ध्यान देना होगा और बड़े पैमाने पर जो चुनौतियां मुंह बाए खड़ी हैं, उनसे निपटने के लिए हमें संरा में सुधार की निरंतर और गहन प्रक्रि या पर मिलकर काम करना होगा।’
• संरा प्रमुख एंटोनिया गुटेरेस ने कहा कि वैश्विकरन और तकनीकी प्रगति के कारण असमानता बढ़ी है, कई देश बेरोजगार युवाओं की समस्या से जूझ रहे हैं और वैश्विकरन के कारण संगठित अपराध तथा तस्करी बढ़े हैं जबकि जनता और सियासी प्रतिष्ठानों के बीच की खाई गहरी हुई है।
• उन्होंने कहा, ‘‘कुछ देशों में अस्थिरता, सामाजिक अशांति-यहां तक कि हिंसा और विवाद बढ़ा है। हर जगह मतदाता यथास्थिति को और सरकार द्वारा जनमत संग्रह के लिए रखे गए किसी भी प्रस्ताव को अस्वीकार कर रहे हैं। कई ने ना केवल अपनी सरकार में बल्कि संरा समेत नियंतण्र संस्थानों में भी भरोसा खो दिया है। गुटेरेस ने कहा कि वर्तमान वैश्विक माहौल में दुनियाभर में लोगों के फैसलों के पीछे की वजह खौफ है।
• उन्होंने कहा कि राष्ट्रों के बीच लंबे समय से चले आ रहे विवादों के निपटारे के लिए उनका कार्यालय मध्यस्थ की भूमिका निभाएगा। गुटेरेस ने कहा कि जहां बचाव काम नहीं करता वहां विवादों का समाधान निकालने के लिए कुछ और प्रयास करने की जरूरत है।
• सीरिया, यमन, दक्षिणी सूडान में गहन संकट से लेकर इजराइल-फलस्तीन समेत और कहीं भी लंबे समय से चले आ रहे विवादों में मध्यस्थता और रचनात्मक कूटनीति अपनाए जाने की जरूरत है।
4. विमुद्रीकरण से घट सकती हैं टैक्स दरें
• काले धन और आतंकी फंडिंग को रोकने के लिए बंद किए गए 500 रुपये और 1000 रुपये के पुराने नोट से लोगों को भले ही तकलीफ हो रही हो लेकिन सरकार का यह निर्णय और डिजिटल पेमेंट को बढ़ाने की कवायद करदाताओं के लिए फायदेमंद साबित हो सकती है।
• वित्त मत्री अरुण जेटली ने संकेत दिया है कि विमुद्रीकरण के बाद अघोषित संपत्ति के सिस्टम में आने से सरकार का कर राजस्व बढ़ेगा जिससे प्रत्यक्ष और परोक्ष करों की दरें नीचे आ सकती हैं।
• जेटली ने गैर कानूनी तौर पर भारी मात्र में नकदी जमा कर रहे लोगों को चेतावनी भी दी है। वित्त मंत्री का कहना है कि सरकारी एजेंसियां नकदी जमा करने वालों पर नजर रख रहीं हैं और पकड़े जाने पर ऐसे लोगों को भारी कीमत चुकानी पड़ेगी।
• जेटली ने कहा कि बड़ी धनराशि सिस्टम से बाहर थी। जब यह राशि बैंकांे में जमा होगी तो इसका हिसाब लिया जाएगा। जिन लोगों ने टैक्स का भुगतान नहीं किया है उनसे टैक्स वसूला जाएगा। इसके साथ ही सरकार नकदी से लेनदेन कम करने के लिए डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा दे रही है। ऐसा होने पर भविष्य में डिजिटल माध्यम से भुगतानों की तादाद बढ़ेगी।
• वित्त मंत्री ने कहा कि जब डिजिटल पेमेंट की तादाद बढ़ेगी तो करदेयता से बचना संभव नहीं होगा। जिन पर टैक्स बनता है, वे हर हाल में इसके दायरे में आ जाएंगे। ऐसे में भविष्य में सरकार को यादा राजस्व मिलेगा। इससे सरकार को प्रत्यक्ष और परोक्ष करों की दरों को तर्कसंगत बनाने में मदद मिलेगी।
• जेटली ने कहा कि विमुद्रीकरण के साथ-साथ सरकार वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) सहित अन्य सुधारों को भी लागू कर रही है। एक निश्चित सीमा से अधिक नकदी से लेनदेन के लिए पैन की अनिवार्यता से भी समाज में भ्रष्टाचार कम होगा। उन्होंने कहा कि इससे समाज में नकदी के लेनदेन में कमी आएगी जिससे टैक्स की चोरी भी रुकेगी।
• जेटली ने आगाह किया कि सरकार को पता चला है कि कुछ लोग बैंकिंग सिस्टम तथा अन्य जगहों पर धांधली कर बड़ी मात्र में गैर कानूनी ढंग से नकदी जमा कर रहे हैं। कानून का उल्लंघन हो रहा है जिससे अर्थव्यवस्था को नुकसान पहुंच रहा है। सरकारी एजेंसियां इस पर नजर रख रही हैं।
5. निर्यात में चीन ने अमेरिका को पछाड़ा
• व्यापार एवं शुल्क के सामान्य समझौते (गैट) के अस्तित्व में आने के बाद से वैश्विक निर्यात में चीन का हिस्सा 2015 तक बढ़कर 14.2 प्रतिशत हो गया जबकि अमेरिका की भागीदारी घटकर 9.2 प्रतिशत रह गई।
• उल्लेखनीय है कि गैट 1948 में अस्तित्व में आया और इससे ही जनवरी 1995 में विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) की नींव पड़ी।
• रेटिंग एजेंसी इंडिया रेटिंग्स ने विश्व व्यापार संगठन के आंकड़ों के हवाले से इस बारे में एक रपट प्रकाशित की है। इसके अनुसार नियंतण्र निर्यात में चीन के निर्यात का हिस्सा 2015 में बढ़कर 14.2 प्रतिशत हो गया जो कि 67 साल पहले सिर्फ 0.9 प्रतिशत था।
• वहीं इसी दौरान अमेरिका का निर्यात हिस्सा 21.6 प्रतिशत से घटकर 9.2 प्रतिशत रह गया।
• यह रपट एजेंसी के विश्लेषक आभाश शर्मा ने लिखी है। इसके अनुसार शुरू से चीन की निर्यात आय 2015 में बढ़कर 2.27 लाख करोड़ डालर हो गई। यह 67 साल पहले 53 करोड़ डालर थी। हालांकि, इस संख्या की अन्य देशों से तुलना नहीं की गई है।
• रपट के अनुसार आलोच्य अवधि में वैश्विक व्यापार में भारत का हिस्सा भी कम हुआ। 1948 में वैश्विक बाजार में भारत का हिस्सा 2.2 प्रतिशत था जो कि 2015 में घटकर 1.7 प्रतिशत रह गया। इस दौरान बीच में यह एक प्रतिशत से कम ही रहा। हालांकि, अपवाद के रूप में 1963 में यह 1.3 प्रतिशत दर्ज किया गया।
• आलोच्य अवधि में भारत को चीन का निर्यात कई गुना बढ़कर 2016 में 62 अरब डालर हो गया जो कि 2005 में सात अरब डालर था।
6. एडीबी ने भारत का विकास अनुमान 7.4 % से घटाकर 7 फीसदी किया
• एशियन डेवलपमेंट बैंक (एडीबी) ने नोटबंदी, कमजोर निवेश और खेती में सुस्ती के मद्देनजर इस वर्ष 2016 भारत का विकास अनुमान 7.4% से घटाकर 7% कर दिया है।
• इसने कहा है कि नोटबंदी का ज्यादा असर देश के नकद आधारित क्षेत्रों पर पड़ेगा जिसमें छोटे तथा मध्यम कारोबार शामिल हैं।
• हालांकि 'एशियाई विकास परिदृश्य, 2016' नाम से जारी अपडेट रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि नोटबंदी का प्रभाव थोड़े समय तक रहेगा तथा वर्ष 2017 में भारतीय अर्थव्यवस्था की विकास दर बढ़कर 7.8% पर पहुंच जाएगी।
• इससे पहले भारतीय रिजर्व बैंक ने भी चालू वित्त वर्ष के लिए विकास अनुमान में आधा फीसदी की कटौती करते हुए इसे 7.6% से घटाकर 7.1% कर दिया था। एडीबी ने भारत के साथ पूरे एशिया के लिए विकास अनुमानों में कटौती की है।
• एशिया के लिए विकास दर अनुमान 5.7% से घटाकर 5.6% तथा दक्षिण एशिया के लिए 6.9% से घटाकर 6.6% कर दिया गया है।
• दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था चीन की विकास दर इस साल 6.6% रहने का अनुमान है, जबकि अगले साल इसके 6.4% रह जाने की उम्मीद है।
• मलेशिया और फिलिपींस में विकास दर में बढ़ोतरी की उम्मीद के मद्देनजर दक्षिण पूर्व एशिया का विकास दर अनुमान वर्ष 2016 के लिए 4.5% तथा 2017 के लिए 4.6% पर स्थिर रखा गया है।
• मध्य एशिया के लिए इस साल और अगले साल विकास दर अनुमान क्रमश: 1.5% तथा 2.6% रखा गया है।
• प्रशांत क्षेत्र के लिए यह क्रमश: 2.7% तथा 3.3% बताया गया है।
7. दूसरी तिमाही में चालू खाता घाटा कम होकर 3.4 अरब डॉलर पर
• चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में देश का चालू खाता घाटा कम होकर 3.4 अरब डॉलर रह गया, जो सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) का 0.6 प्रतिशत है। पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में यह 8.5 अरब डॉलर या जीडीपी के 1.7 प्रतिशत पर रहा था।
• हालांकि, तिमाही-दर-तिमाही आधार पर चालू खाता घाटा बढ़ा है। यह इस साल अप्रैल-जून की तिमाही में 0.3 अरब डॉलर यानी जीडीपी का 0.1 प्रतिशत रहा था। रिजर्व बैंक (आरबीआई) द्वारा मंगलवार को जारी भुगतान संतुलन के आंकड़ों में बताया गया है कि चालू खाता घाटे में गिरावट की मुख्य वजह आलोच्य तिमाही में वस्तु व्यापार घाटा कम होना रहा है।
• इस दौरान व्यापार घाटा कम होकर 25.6 अरब डॉलर पर रहा। पिछले साल की दूसरी तिमाही में वस्तु व्यापार घाटा 37.2 अरब डालर रहा था। हालांकि, सेवा क्षेत्र से प्राप्त आमदनी में गिरावट दर्ज की गयीं और यह 17.8 अरब डॉलर से घटकर 16.3 अरब डॉलर रह गया।
• उल्लेखनीय है कि सेवा क्षेत्र में व्यापार संतुलन भारत के पक्ष में है। आरबीआई ने बताया कि व्यक्तिगत रूप से विदेशों से भेजे गये पैसे में दूसरी तिमाही में गिरावट दर्ज की गई है। यह 10.7 फीसदी कम होकर 15.2 अरब डॉलर रह गया।
8. पाकिस्तान बनाएगा विशेष नौसैनिक बल
• गुलाम कश्मीर से गुजरने वाले आर्थिक गलियारे की सुरक्षा के लिए पाकिस्तान विशेष नौसैनिक बल बनाएगा। चीन-पाक आर्थिक गलियारा (सीपीईसी) नामक यह परियोजना 46 अरब डॉलर का है।
• डॉन के अनुसार विशेष बल के गठन की घोषणा ग्वादर में सीपीईसी पर हुए एक अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन में की गई। एक वरिष्ठ नौसैन्य अधिकारी के हवाले से डॉन ने बताया है कि इस नए बल को ‘टास्क फोर्स-88’ के नाम से जाना जाएगा।
• इस बल के जिम्मे ग्वादर बंदरगाह और इससे जुड़े समुद्री रास्तों की सुरक्षा होगी। पारंपरिक और गैर पारंपरिक खतरों से निपटने में सक्षम यह बल जहाजों, ड्रोन और अत्याधुनिक निगरानी तकनीकों से लैस होगा।
• सम्मेलन में जिस वक्त इस बल के गठन की घोषणा की गई उसमें पाकिस्तानी सेना के प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा, नौसेना प्रमुख एडमिरल जकाउल्लाह और वायु सेना प्रमुख सोहेल अमान भी मौजूद थे।
• गौरतलब है कि इस महीने की शुरुआत में इस गलियारे की सुरक्षा चाक-चौबंद करने के लिए पाकिस्तान ने 1.3 अरब डॉलर का बजट अलग से जारी किया था। भारत की आपत्तियों को नजरंदाज कर अरब सागर तक अपनी पहुंच के लिए चीन गलियारे का निर्माण कर रहा है।
• दूसरी ओर, पाकिस्तान के एक शीर्ष अधिकारी ने दावा किया है कि भारत परमाणु पनडु}बी विकसित कर रहा जिसके कारण इस्लामाबाद अपनी रक्षा के लिए उपाय करने को मजबूर है। विदेश मंत्रलय में अतिरिक्त सचिव (यूएन एवं आर्थिक सहयोग) तसनीम असलम ने यह आरोप भी लगाया है कि भारत नियंत्रण रेखा पर बगैर उकसावे के गोलीबारी कर रहा है और साथ ही गैर जिम्मेदाराना बयान दे रहा है।
• उन्होंने इस्लामाबाद में आयोजित एक सम्मेलन में कहा, ‘भारत परमाणु पनडु}बी विकसित कर रहा है। नियंत्रण रेखा एवं कामकाजी सीमा पर बगैर उकसावे के गोलीबारी कर रहा है। इन परिस्थितियों में पाकिस्तान के पास खुद को रक्षा के लिए तैयार रखने केअलावा कोई विकल्प नहीं है।’ उन्होंने कहा कि भारत के गैर जिम्मेदार रवैये के कारण क्षेत्रीय शांति के लिए खतरा पैदा हो गया है।
• असलम ने कहा कि अमृतसर में हुए हार्ट ऑफ एशिया सम्मेलन में भागीदारी अफगान शांति और स्थिरता को लेकर पाकिस्तान की गंभीरता का परिचायक है।
9. मलेरिया के मामले में भारत सिर्फ नाइजीरिया और कांगो से ही पीछे
• हम चाहे तरक्की के जितने भी दावे कर रहे हों, मगर मलेरिया के मच्छरों से पार नहीं पा रहे। आज भी हमारा देश मलेरिया के मामलों में सिर्फ नाइजीरिया और कांगो से ही पीछे है।
• दुनियाभर में मलेरिया के मामले के छह फीसद भारत में ही हुए और इतने ही अनुपात में यहां मौतें भी हुईं। नाइजीरिया में 29 फीसद और कांगो में नौ फीसद मामले हुए।
• बीते साल भारत में लगभग सवा करोड़ लोगों के मलेरिया से पीड़ित होने और लगभग 26 हजार लोगों के मारे जाने का अनुमान है।
• ये आंकड़े मंगलवार को जारी हुई विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की ताजा ‘विश्व मलेरिया रिपोर्ट’ में सामने आए हैं। इसके मुताबिक बीते वर्ष के दौरान दुनियाभर में 21.2 करोड़ लोगों के मलेरिया से प्रभावित होने का अंदाजा है।
• इसी तरह डब्ल्यूएचओ का अंदाजा है कि बीते वर्ष के दौरान दुनियाभर में इससे 4.29 लाख मौतें हुईं। क्षेत्रीय आधार पर देखा जाए तो मलेरिया के 90 फीसद मामले अफ्रीकी देशों में हुए। जबकि दक्षिण पूर्व एशिया के देशों में सात फीसद मामले दर्ज किए गए।
• इसी तरह डब्लूएचओ का आकलन है कि मलेरिया से दुनियाभर में हुई मौत में भी छह फीसद हिस्सा भारत का ही है। इस लिहाज से भी नाइजीरिया (26 फीसद) पहले नंबर पर और कांगो (10 फीसद) दूसरे नंबर पर है।
• मौत के मामले में भी अफ्रीकी देशों की स्थिति बहुत खराब है। 92 फीसद मौत इसी क्षेत्र में हुई। इसके बाद दक्षिण पूर्व एशिया का स्थान है। वहां छह फीसद मौतें हुई जिनमें से अधिकांश भारत में हुई।
• बीते साल भारत में सवा करोड़ लोगों को चुभा मलेरिया का डंक
• डब्ल्यूएचओ की रिपोर्ट में सामने आई बदहाली
• दुनिया के छह फीसद मलेरिया के केस भारत में
• पी. वाइवेक्स से होने वाली मौतों के 51 फीसद मामले भारत में ही
10. प्रियंका चोपड़ा
• अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा यूनिसेफ की नई वैश्विक सद्भावना दूत नियुक्त की गई हैं। प्रियंका ने यूनिसेफ के प्रयासों की सराहना करते हुए लोगों से बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए मिलकर काम करने की अपील की।
• फुटबालर डेविड बेकहम और 12 वर्षीय ब्रिटिश अभिनेत्री मिली बॉबी ब्राउन ने सोमवार को यूनिसेफ के 70वें स्थापना दिवस समारोह में प्रियंका की नियुक्ति की घोषणा की।
• इस मौके पर चोपड़ा ने संयुक्त राष्ट्र के राजनयिकों, यूनिसेफ के सद्भावना दूतों और बच्चों को संबोधित करते हुए कहा, ‘दुनियाभर में बचे हिंसा और शोषण से अभी भी असुरक्षित हैं। मैं बच्चों के लिए आजादी चाहती हूं।

Sorce of the News (With Regards):- compile by Dr Sanjan,Dainik Jagran(Rashtriya Sanskaran),Dainik Bhaskar(Rashtriya Sanskaran), Rashtriya Sahara(Rashtriya Sanskaran) Hindustan dainik(Delhi), Nai Duniya, Hindustan Times, The Hindu, BBC Portal, The Economic Times(Hindi& English)

No comments:

Post a Comment